UPSC Prelims: 15 दिनों में यूपीएससी प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी कैसे करें? एक्सपर्ट ने बताए 15 खास टिप्स

नई दिल्ली: भारत में हर साल लाखों युवा अफसर बनने का सपना देखते हैं। इसके लिए UPSC CSE परीक्षा पास करना आवश्यक है, जो दुनिया की तीसरी सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है। इस परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या अधिक होने के कारण प्रतिस्पर्धा का स्तर बहुत ऊँचा होता है। UPSC प्रीलिम्स परीक्षा 16 जून, 2024 को आयोजित की जाएगी, जो सिविल सर्विस परीक्षा का पहला चरण है। केवल इसे पास करने वाले ही UPSC मेंस परीक्षा में बैठ सकेंगे।

UPSC Prelims
UPSC Prelims

UPSC परीक्षा की संरचना

सरकारी अफसर बनने के लिए UPSC परीक्षा के तीनों चरणों को पास करना आवश्यक है:

1.प्रीलिम्स 2. मेंस 3. इंटरव्यू

प्रीलिम्स और मेंस पास करने के बाद, इंटरव्यू में बेहतरीन अंक हासिल करने वालों को उनकी रैंक के हिसाब से IAS, IPS, IFS, IRS जैसी सर्विस में सरकारी नौकरी मिलती है। अब UPSC प्रीलिम्स 2024 के लिए उम्मीदवारों के पास केवल 15 दिन बचे हैं। UPSC मेंटॉर दीपांशु सिंह से जानिए इन आखिरी दो हफ्तों की तैयारी की रणनीति।

UPSC प्रीलिम्स परीक्षा 2024 में कुल 180 ऑब्जेक्टिव बेस्ड सवाल पूछे जाएंगे, जिनमें से 80 सवाल CSAT के और 100 सवाल जनरल स्टडीज के होंगे। यह पेपर कुल 400 अंकों का होता है। हर सही जवाब के बदले में 2 नंबर मिलते हैं, जबकि हर गलत जवाब पर 1/3 अंक काटा जाता है।

तैयारी के अंतिम 15 दिन: रणनीति और टिप्स

UPSC प्रीलिम्स 2024 में सर्वोत्तम अंक हासिल करने के लिए अंतिम 15 दिन बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। इस दौरान की गई तैयारी और रणनीति आपकी सफलता में बड़ा अंतर ला सकती है। यहाँ दी गई कुछ महत्वपूर्ण सुझावों पर ध्यान दें:

मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस

अगले 3-4 दिनों तक मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस करें, लेकिन परीक्षा से 10 दिन पहले इसे बंद कर दें। मॉक टेस्ट में ज्यादा नंबर आने पर ओवर कॉन्फिडेंस और कम नंबर आने पर आत्मविश्वास की कमी हो सकती है, इसलिए सही समय पर इसे बंद करना जरूरी है।

रिवीजन पर फोकस

आखिरी के 15 दिन रिवीजन पर ज्यादा ध्यान दें। आप जो भी पढ़ चुके हैं, उसे अच्छे से रिवाइज करें। किसी भी नए सोर्स पर ध्यान न दें, इससे केवल भ्रम बढ़ेगा और तैयारी में रुकावट आएगी।

प्राथमिक सोर्स का उपयोग

रिवीजन के समय अपने नोट्स को प्राथमिक सोर्स बनाएं या उन किताबों से पढ़ें जिन्हें आप पहले भी पढ़ चुके हैं। इससे रिवीजन प्रभावी और सुव्यवस्थित होगा।

महत्वपूर्ण विषयों पर ध्यान

पॉलिटी, ज्योग्राफी, इकोनॉमी, और एन्वायर्मेंट से जुड़े टॉपिक्स को विशेष महत्व दें। हिस्ट्री में एनशियंट आर्ट एंड कल्चर, मिडिवल और मॉडर्न हिस्ट्री पर फोकस करें।

CSAT की तैयारी

अगर आप मैथ में कमजोर हैं, तो CSAT के लिए 10-12 दिन जमकर प्रैक्टिस करें। इससे आपको परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन

रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन के पैटर्न को समझने के लिए पिछले सालों के पेपर से मदद लें। इससे आप प्रश्नों के पैटर्न को समझ पाएंगे और बेहतर तैयारी कर पाएंगे।

समय प्रबंधन

रोजाना 5-6 घंटे रिवीजन करें, 2 घंटे टेस्ट के लिए रिजर्व रखें और 1-1.30 घंटा करेंट अफेयर्स की तैयारी करें। करेंट अफेयर्स के नोट्स बार-बार रिवाइज करें।

स्वास्थ्य का ध्यान

16 जून तक अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें। इन दिनों अधिकतर राज्यों में गर्मी होती है, इसलिए स्वास्थ्य का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। अच्छी सेहत से ही आप अपनी तैयारी को सही तरीके से अंजाम दे पाएंगे।

पर्याप्त नींद

रोजाना 6 घंटे की नींद जरूर लें। पर्याप्त नींद से रिवीजन में दिक्कत नहीं होगी और आपकी याददाश्त भी मजबूत रहेगी।

माइक्रो टॉपिक्स का ब्रेक डाउन

अपने रिवीजन को माइक्रो टॉपिक्स के हिसाब से विभाजित करें। सभी विषयों को 3-3 या 2-2 दिनों के हिसाब से बांट लें, ताकि हर टॉपिक पर बराबर ध्यान दिया जा सके।

महत्वपूर्ण टॉपिक्स पर फोकस

65% सवाल GEEP (Geography, Economics, Environmental and Polity) से आते हैं। इन टॉपिक्स पर ज्यादा ध्यान दें और रिवीजन को प्रभावी बनाएं।

पेरिफेरल टॉपिक्स की रिवीजन

हिस्ट्री, आर्ट एंड कल्चर के पेरिफेरल टॉपिक्स की रिवीजन करें। करेंट अफेयर्स पर रोजाना नजर डालते रहें और ताजगी बनाए रखें।

UPSC Prelims Exam

UPSC प्रीलिम्स 2024 की तैयारी के अंतिम 15 दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं। सही रणनीति और मेहनत से आप इस परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। यह ध्यान रखें कि आपकी तैयारी केवल इन 15 दिनों पर निर्भर नहीं है, बल्कि पूरे साल की मेहनत और समर्पण का परिणाम है। सभी परीक्षार्थियों को शुभकामनाएँ!

Leave a Comment